अगर आप Generic Medical Store का बिजनेस शुरू करना चाहते तो भारत सरकार द्वारा जन औषधि केंद्र खोलने के लिए 2.50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता की जाएगी और इसके अलावा भारत सरकार के सहयोग से अभी तक पूरे देशभर में साढ़े पांच हजार से ज्यादा जेनेरिक मेडिकल स्टोर हो चुके हैं |

Generic Medical Store पर दवा बेचने वाले उद्यमी को भारत सरकार के द्वारा दवा बेचने पर 20 फीसदी का मार्जिन मिलेगा ! हर महीने की बिक्री पर अलग से 15 फीसदी इंसेंटिव मिलेगा ! लगभग हर महीने 10 हजार रुपये तक इंसेंटिव की लिमिट होती है । इंसेंटिव उद्यमी को तब तक दिया जाएगा जब तक 2.50 लाख रुपये पूरे नहीं हो जाते |

जन औषधि केंद्र क्या है ?

Jan Aushadhi Kendra पर दवाएं बाजार मूल्य की  तुलना में 50 से 90 प्रतिशत तक सस्ती मिलती है और इसका उद्देश्य है, देश के हर नागरिक को सस्ते दामों पर गुणवत्तापूर्ण जेनेरिक दवाएं उपलब्ध कराकर उनके स्वास्थ्य पर होने वाले खर्च को कम करना |

प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना के तहत भारत सरकार द्वारा Generic Medical Store खोलने वाले उद्यमी को भारत सरकार के द्वारा आर्थिक सहायता मिलेगी |

जन औषधि केंद्र के जरिये कैसे होगी कमाई ?

जन औषधि केंद्र खोलने वाले को दवा कि बिक्री पर 20 फीसदी तक कमीशन मिलता है और इस कमीशन के अलावा हर महीने होने वाली दवाओं कि बिक्री पर 15 फीसदी तक का इंसेंटिव दिया जाता है । अगर आपने जेनेरिक मेडिसिन स्टोर खोलकर हर महीने 1 लाख रुपए का  दवा बेचा तो कम से कम आपको उस पर 20 से 30 हजार का प्रॉफिट होगा और इसी तरह आप अपने  जेनेरिक स्टोर से जितनी ज्यादा दवाई बचोगे उतनी ज्यादा आपकी प्रॉफिट होगी |

जन औषधि केन्द्र खोलने पर केंद्र सरकार से कैसे मिलेगी सहायता ?

जन औषधि परियोजना के तहत Generic Medical Store खोलने के लिए फर्नीचर और अन्य सामानों के लिए शुरुआत में 2 लाख रुपये तक की आर्थिक सहायता मिलेगी और कंप्यूटर और अन्य बिलिंग और प्रिंटर खरीदने के लिये सरकार 50,000 रुपये की आर्थिक सहायता करेगी | जन औषधि केंद्र खोलने वाले उद्यमियों को दवाई MRP रेट से 20% कम में मिलेगी |

सरकारी मेडिकल स्टोर खोलने में जितनी लागत लगती है, उसे सरकार वापस कर देगा तो कुल मिलाकर यह मेडिकल स्टोर आपको फ्री ऑफ कॉस्ट खोलने का सरकार मौका दे रही है !

उत्तर पूर्वी राज्य और नक्सल प्रभावित आदिवासी क्षेत्रों के लोग अगर जन औषधि केंद्र खोलते हैं तो उन्हें 15% इंसेंटिव मिलेगी यानि कि अधिकतम 15000 रुपये हर महीने और सरकार द्वारा शुरू में उन्हें 50000 रुपये की दवा भी मिलेगी |

जन औषधि केंद्र कौन खोल सकता हैं ?

  • कोई भी व्यक्ति बेरोजगार, Pharmacist, Doctor, Registered Medical Practitioner जन औषधि केंद्र खोल सकता है ।
  • NGO, Private Hospital, सोसायटी और सेल्फ हेल्प ग्रुप जनऔषधि केंद्र खोल सकता है ।
  • राज्य सरकार की ओर से नॉमिनेट एजेंसी जन औषधि केंद्र खोल सकती है ।

जेनेरिक मेडिकल स्टोर कैसे खोलें ?

जन औषधि केंद्र एक मेडिकल स्टोर की तरह होती है, जिसमें आपको दवाइयां देनी होती है और इसे खोलने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा लेकिन जेनेरिक मेडिकल स्टोर खोलने के लिए आपको कुछ नियम और शर्तों का पालन करना होगा जैसे कि:-

  • जन औषधि केंद्र वो व्यक्ति ही खोल सकता है जिसके पास B.Pharma और D. Pharma की डिग्री हो |
  • औषधि केंद्र खोलने के लिए उद्यमियों के पास कम से कम 120 स्क्वायर फीट की जगह होनी चाहिए ।
  • बीपीपीआई (Bureau of Pharma PSUs of India) आप की जगह पर विजिट करेगी और तब आपको औषधि केंद्र खोलने की परमिशन देंगे |
  • उधमी के पास फार्मासिस्ट का सर्टिफिकेट होना चाहिए |
  • उधमी के पास Retail Drug Licence और Tin Number होना चाहिये |
  • पिछले 3 वर्षो का बैंक विवरण और ऋण देने के मामले मे बैंक से अनुमोदन पत्र |
  • प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्रों के नाम पर ड्रग लाइसेंस बना होना चाहिए |

जन औषधि केंद्र खोलने के लिये Online Registration कैसे करें ?

जन औषधि केंद्र खोलने के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा:-

  • इस लिंक पर क्लिक करने के बाद रजिस्ट्रेशन पेज खुल जाएगा |
  • वहां पर आपको दो विकल्प दिखाई देंगे ऑनलाइन ओर ऑफलाइन आपको ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करना होगा ओर आपको नई ID बनानी होगी |
  • ID बनाने के बाद यूजर नेम और पासवर्ड डालकर लॉगइन करना होगा |
  • इसके बाद आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी को सही-सही भर दे सभी दस्तावेजों को अपलोड करके सबमिट करदे |
  • आवेदन स्वीकार होने पर ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर पर सूचित कर दिया जाता है |
  • अपने आवेदन का स्टेटस देखने के लिए वेबसाइट पर विजिट करके देख सकते हैं या फिर स्टेटस का पता हेल्पलाइन नंबर पर 1800 180 8080 पर कॉल कर के भी ले सकते है ।

जन औषधि केंद्र खोलने के लिये Offline आवेदन कैसे करें ?

जन औषधि केंद्र खोलने के लिए ऑफलाइन आवेदन करने के लिए ऊपर दिए गए लिंक पर क्लिक करके पीडीएफ फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं और उसे प्रिंट करवा कर सभी डिटेल को भर दें और डाक्यूमेंट्स को अटैच कर दें । इसके बाद फॉर्म को अच्छे तरीके से तैयार करने के बाद फार्म में बताये गए एड्रेस  “सीईओ, फार्मा पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग ऑफ इंडिया (बीपीपीआई), आईडीपीएल कॉरपोरेट कार्यालय, आईडीपीएल कॉम्प्लेक्स, पुरानी दिल्ली गुड़गांव रोड, दुन्दाहेरा, गुड़गांव–122016 (हरियाणा)” पर भेज दे।

निष्कर्ष:- दोस्तों अगर आपको कोई भी दिक्कत आ रही हो Jan Ausadhi Kendra खोलने में तो हमे कमेंट में जरूर बताएं ।

[sp_easyaccordion id=”1105″]