मधुमक्खी पालन का व्यापार कृषि क्षेत्र के अंदर आने वाला एक प्रमुख व्यवसाय है ,इस व्यवसाय को शुरू करने पर उधमी को लाभ होने की अधिक संभावना है, Honey Bee Keeping Farming बिजनेस को शुरू करने के लिए भारत सरकार द्वारा वित्तीय सहायता भी प्रदान की जाती है |

राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय दोनों बाजारों में शहद का काफी उपयोग है और इसकी डिमांड दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है क्योंकि अच्छी सेहत के लिए शहद का उपयोग किया जाता है इसके अलावा शहद में कई प्रकार के औषधीय गुण होते हैं ओर लोग अपनी त्वचा में निखार लाने के लिए, पाचन ठीक रखने के लिए, इम्यूनिटी पावर को बढ़ाने के लिए, घाव भरने या चोट में इसका इस्तेमाल करते हैं, मधुमक्खी पालन व्यवसाय करने वाले लोग लाखों रूपये कमा रहे हैं  |

Honey Bee Keeping बिजनेस क्या है ?

मधुमक्खियां फूलों के सुगंध को शहद में बदलने का काम करती है ओर उसे अपने छत्ते में जमा करती है, मधुमक्खी पालन का व्यवसाय करने वाले लोग इन मधुमुखी का छत्ता से शहद निकाल कर उसे बेचा करते हैं ओर वो ऐसा Large Scale पर किया करते हैं |

मधुमक्खी का पालन करने वाले उद्यमियों को शहद के साथ साथ मधुमक्खी मोम यानि कि Bees wax भी मिलता है, जिसका उपयोग विभिन्न industrial कामों को करने के लिए उपयोग किया जाता है, ओर इसे आसान भाषा में समझे तो मधुमक्खी को पालने की प्रक्रिया से हम Honey Bee Keeping व्यवसाय से पैसे कमा सकते हैं |

मधुमक्खी पालन व्यवसाय के लाभ ?

मधुमक्खी पालन बिजनेस से ना र्सिफ शहद प्राप्त होता है इसके अलावा मोम, रोयल जैली जैसी चीजे भी मिलते हैं, इस व्यवसाय ओर भी बहुत सारे लाभ होते है जैसे कि:

  • Honey Bee Keeping बिजनेस राष्ट्रिय ओर अंतराष्ट्रिय दोनो स्तर पर आगे बढ रहा है |
  • जो किसान इस व्यवसाय को भी खेती के साथ करते है उन्कि आय दोगुनी होती है |
  • इस व्यवसाय के जरिये फुलो के रस ओर पराग का सहि उपयोग करते है |
  • मधुमक्खी पालन से शहद, रॉयल जैली , Bees wax और पराग का उत्पादन होता है |
  • परागण का उपयोग खेतों में करने से कृषि उत्पादन में वृद्धि होती है |
  • मधुमक्खी पालन से उत्पादित प्रोडक्ट में औषधि गुण रहता है जिसका इस्तेमाल लोग ब्लड प्रेशर, कब्ज , सर्दी खांसी के बीमारी से मुक्ति पाने के लिए करते हैं |
  • रॉयल जैली का सेवन ट्यूमर से बचाने के लिए भी किया जाता है |
  • Bee Keeping बिजनेस को कम इन्वेस्टमेंट के साथ जल्दी शुरू किया जा सकता है |
  • ऐसे खेत या खाली जगह जहां पर फसल का उत्पादन नहीं होता वहां पर इस व्यवसाई को शुरू कर सकते हैं |
  • मार्केट में Bees wax और शहद की डिमांड निरंतर रहती है जिसके कारण इस व्यवसाय में बिज़नेस अपॉर्चुनिटी और बढ़ जाती है |

Honey Bee Keeping बिजनेस शुरू करने से पहले जरूरी बाते ?

अगर आप भी मधुमक्खी पालन का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो आपको कुछ बातों को जान लेना चाहिए इस व्यवसाय को शुरू करने से पहले जैसे कि:

  • मधुमक्खी पालन का बिजनेस शुरू करने से पहले आपको ऐसे व्यक्ति को अपने साथ रहना चाहिए जो मधुमक्खी के छत्ते से सहद निकालता हो |
  • व्यवसाय को शुरू करने से पहले मधुमक्खी पालन और उसके रखरखाव से संबंधित सारी जानकारी किसी विशेषज्ञ से जरूर प्राप्त करें |
  • आपको कुछ उपकरण खरीदने होंगे इसके अलावा कुछ उत्पादों की भी खरीदी करनी होगी |
  • शुरुआती दौर में मधुमक्खी पालन का व्यवसाय छोटे स्तर पर करें और जैसे-जैसे अनुभव और व्यवसाय बढ़ेगा इस बिजनेस को और बड़ा सकते
  • मधुमक्खी पालन से शहद और उसके संबंधित सारे प्रोडक्ट को उत्पादित करने के बाद मार्केट में उसे बेचने के लिए आपको किसी एजेंट से कांटेक्ट करना होगा जो शहद बेचने का काम पहले से कर रहा हो |

मधुमक्खी के व्यवसायिक प्रकार ?

हमारे देश में आम तौर पर पांच प्रकार के मधुमक्खियों को व्यवसायिक तौर पर प्रयोग किया जाता है जैसे कि:

  • Apis Cerena Indica: ये मधुमक्खी प्रजाति एक बार में 1 से 2 किलो तक मधु बनाती है और इसे उधमी 1 साल में 10 से 15 किलो तक मधु प्राप्त कर सकता है, ये मधुमक्खी पेड़ या दीवार पर एक साथ लगभग 7 छ्ते एक साथ बनाती है ओर इसे आप पेटियों मे भी पाल सकते है |
  • Apis Florea : इस प्रजाति से एक बार में लगभग 250 ग्राम से 1 किलो तक मधु प्राप्त होती है, ये छोटी मधुमक्खियां होती हैं जो छोटे-छोटे छत्ते बनाते हैं और यह आमतौर पर पैरों पर छत्ते बनाती है |
  • Apis Dorsata : ये सबसे प्रसिद्ध मधुमक्खियों की प्रजाति में से एक है और सबसे ज्यादा शहर इसी प्रजाति की मधुमक्खियां देती है,लेकिन यह बहुत खतरनाक होती है और इसका पालन आमतौर पर लोग नहीं किया करते हैं, ओर ये एक बार में करीब 30 से 50 किलो तक शहद बनाती है |
  • Apis mellifera : आमतौर पर हमारे देश में लोग  इसी प्रजाति का मधुमक्खी पालन का व्यवसाय करते हैं और इसके छाती में करीब एक बार में 25 से 40 किलो तक का सहद प्राप्त होता है
  • टेट्रागोनुला इरिडिपेनिस : ये मधुमक्खियां शहद बहुत कम देती हैं और इससे लगभग एक बार में 100 ग्राम तक सहद बन पाता है |

मधुमक्खी पालन का व्यवसाय कैसे शुरू करे ?

इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए आप को किसी खुली जगह का चयन करना चाहिए जहां पर आप अपने मधुमक्खियों को सुरक्षित रख सकें, और इस व्यवसाय को बढ़ाने के लिए आप ऐसे विदेशी मधुमक्खियां खरीदे जिससे ज्यादा से ज्यादा शहद का प्रोडक्शन हो सके ।

मधुमक्खियों के शहद का अच्छा प्रोडक्शन करने के लिए apic melifera,एपिस फ्लोरिया और एपिस सोरण इन्डिका इन प्रजातियों की मधुमक्खियों को खरीद सकते हैं, जिससे आप अच्छी मात्रा में शहद प्राप्त कर सकते हैं  ओर इसके अलवा भी  बिजनेस  को शुरू करने के लिए विभिन्न चीजों पर ध्यान देना होगा जो नीचे बताई गई है |

मधुमक्खी पालन का परिक्षण प्राप्त करे ?

इस बिजनेस शुरू करने से पहले मधुमक्खी पालन से संबंधित परीक्षण को जरूर प्राप्त कर लें इसके लिए आप स्थानीय कृषि विभाग या कृषि विद्यालय ओर किसी ऐसे व्यक्ति जो इस काम में पहले से है उनसे सीख सकते हैं या फिर अगर आपको मधुमक्खी पालन से संबंधित परीक्षण नहीं करना है तो आप किसी ऐसे व्यक्ति को अपने अंदर रख सकते हैं जो उस काम को करता हो | कृषि संस्थान या विद्यालयों के माध्यम से आप डिप्लोमा कोर्स करके सर्टिफिकेट भी पा सकते हो और इसकी कोर्स लगभग 1 हफ्ते से लेकर 9 महीने तक की होती है |

मधुमक्खी पालन व्यवसाय शुरू करने के लिये उपकरण ?

इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए मशीनरी उपकरण को भी खरिदना होता है, स्थानीय आवश्यकताओं के अनुसार उपकरण  और उत्पाद खरीदने की आवश्यकता होती है लेकिन कुछ प्रमुख उपकरण हैं जैसे कि:

  • मधुमक्खी के छत्ते
  • Bee Boxes
  • Stainless steel smoker
  • सुरक्षा हेतु कपड़ा और ग्लव्स
  • विभिन्न मोटे और पतले ब्रश
  • Stainless steel knife
  • मधुमक्खी के डंक निकालने का उपकरण
  • Bee Feeder
  • Honey extractor
  • Shoes
  • मधुमक्खियों के छत्ते के लिए एक्स्ट्रा कवर

मधुमक्खी पालन व्यवसाय शुरू करने के लिये इन्वेस्टमेंट ?

मधुमक्खियों की पेटी आपको 4 से 5000 रुपये तक मिलेगी जिनमें 300 से 400 के आसपास मधुमक्खियां होती हैं और इसके अलावा शहद निकालने का मशीन 25000 तक मिल जाता है, कुछ उपकरण भी लेनी होगी जैसे कि चाकू,ड्रम ,रिमूविंग मशीन और हाथ को की सुरक्षा के लिए दस्ताने इत्यादि कुल मिलाकर इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए कम से कम 3 से 4 लाख तक का इन्वेस्टमेंट करना होगा |

मधुमक्खी पालन करने के लिए कैसी जगह चुने ?

जमीन आपको मधुमक्खियों के हिसाब से चुननी होगी अगर 50 से 100  मधुमक्खियों की पेटि रखने की सोच रहे हैं तो कम से कम 1000 स्क्वायर फीट की जगह होनी चाहिए और इसके अलावा जगह वातावरण के अनुकूल होना चाहिए, आसपास अच्छे पेड़ पौधे होने चाहिए ताकि मधुमक्खी के जरिए अच्छी शहद मिल सके |

इन्हें भी पढ़ें…

गोबर से लकड़ी बनाने का business से लाखों की कमाई

करकनाथ मुर्गे से कमाएँ लाखो

वर्मी कम्पोस्ट से कमाएँ लाखों, एक सच्ची घटना

शहद कहां पर बेचे और मार्केटिग कैसे करे ?

शहद और उसे निकलने वाले शहद, रॉयल जैली , Bees wax और पराग  को लोकल मार्केट के रिटेलर डिस्ट्रीब्यूटर ओर डीलर से कांटेक्ट करके मधु को बेच सकते हो या फिर खुद कि दुकान खोल कर होलसेल रेट में सस्ते दामों पर शहद बेचकर प्रॉफिट कमा सकते हो  और इसकी मार्केटिंग करने के लिए लोकल अखबारों और बैनर पोस्टर के जरिए प्रचार कर सकते हो ताकि लोगों को इसके बारे में पता चल सके बहुत आपकी दुकान पर आकर खरीद सके |

Honey Bee Keeping बिजनेस से कितना लाभ होगा ?

Honey Bee Keeping व्यवसाय के जरिए अगर आप 50 से 100 पेटी मी मधुमक्खी पालन करते हैं तो कम से कम 1 पेटि पर 5-6 हजार का प्रॉफिट होगा इस हिसाब से 1 साल में लगभग 5-6 लाख रूपए की इनकम की संभावना होती है |

निष्कर्ष:- तो दोस्तों आशा है, आपको समझ मे आया होगा कि कैसे मधुमक्खी पालन का business शुरू कर सकते हैं, कितना investment लगेगा और कितना मुनाफा होगा !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here